बिन तेरे

 बिन तेरे

 

 

बिन तेरे मैं कुछ भी नहीं ……[२]

यहोवा मुझे तेरी जरुरत हैं …..[२]

प्यार तू करता इतना ,अपने हाथो में खोदी मेरी सूरत हैं

यहोवा मुझे तेरी जरुरत हैं …..[२]

 

१. तू मेरे चहरे की रौनक,  और हैं मेरी कुवत ….[२]

अशमत और जलाल के बादशाह तुझसे हैं मेरी सीरत …..[२]

तेरे बिना ये जिंदगी ये मेरी …..[२]

बेरौनक बेसुरत हैं

यहोवा मुझे तेरी जरुरत हैं

 

२.तेरा कलाम हिन् ऐसे जैसे हो अनमोल मोती ….[२]

चिराग हैं कदमो के लिए

और मेरी राहो की ज्योति ……[२]

राहे  जमाँ तू जिन्दा खुदा तू

तू  नाच झूटी मूरत हैं

यहोवा मुझे तेरी जरुरत हैं ….,.[२]

 

३. आसमान तूने बनाया समुन्दर की हर गहराई …….[२]

चरिंद, परिन्द पहाड़ दरियां

और फूलो से धरती सजाई

तू खुद कितना खुबसूरत हैं

यहोवा मुझे तेरी जरुरत हैं ……[२]

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.