ज़िन्दा है प्रभु हमारा Zinda Hain Prabhu Hamara gospel song lyrics and guitar, keyboard chord

ज़िन्दा है प्रभु हमारा

 

[E]ज़िन्दा है प्रभु [B]हमारा,
[A]ज़िन्दा है प्रभु हमारा[E]
जीवन देता है, [A]शांति देता है
[E]वो ही हमारा,[A] राजा है,
[F#m]हम सब उसके [A]सेवक[B] हैं[E]

[E]भजो हर दम यीशु नाम,
[A]शैतां को कर दो नाकाम
[E]उस पर डालो बोझ तमाम
[A]जीवन होगा तब आसान
[E]चिंता हमारी वो [A]करता है
[F#m]सारे दुखों को [A]हरता[B] है[E]

जिन्दा है…

[E]हर पर रहता यीशु साथ,
[A]क्या है फिर चिंता की बात
[E]कितनी भी हो काली रात,
[A]यीशु दिखलायेगा राह
[E]वो सच्चा चर[A]वाहा है,
[F#m]तृप्त हमें वो [A]करता[B] है[E]

जिंदा है प्रभु…

[E]यीशु है इतना बलवान,
[A]कोई नहीं है उसके समान
[E]शैतां के सब चालों का,
[A]किया है उसने काम तमाम
[E]यीशु मुक्ति [A]दाता है,
[F#m]पाप क्षमा सब [A]करता[B] है[E]

ज़िंदा है ………..

Zinda Hain Prabhu Hamara

 

[E]Zinda hain Prabhu [B]hamara
[A]zinda hain Prabhu hamaara[E]
jeevan deta hain ,[A]shanti deta hain,
[E]woh hi hamara [A]raja hain
[F#m]hum sab uske [A]sewak[B] hei[E]

[E]bhajo har dam Yeshu naam,
[A]shaitan ko kar do nakaam,
[E]us par dalo bojh tamaam
[A]jeevan hoga tab aasaan,
[E]chinta hamari vo [A]karta hai
[F#m]saare dukhon ko [A]harta[B] hei[E]

zinda hai…

[E]har pal rahta Yeshu saath,
[A]kya hai phir chinta ki baat
[E]kitni bhi ho kaali raat
[A]Yeshu dikhlayega raah
[E]woh sachcha char[A]waha hai
[F#m]tript hame vo [A]karta[B] hai[E]

zinda hai…

[E]Yeshu hai itna balwaan,
[A]koi nahi hai uske samaan,
[E]shaitan ke sab chalon ko
[A]kiya hai usne kaam tamaam
[E]Yeshu mukti[A]data hei,
[F#m]paap kshama sab [A]karta[B] hei[E]

zinda hai…………..

 

Parmeshwar Maanta Hai Insaan (परमेश्वर मानता है इंसान ) Hindi Worship Songs -Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parmeshwar Maanta Hai Insaan

(परमेश्वर मानता है इंसान )

  • Artist: Hindi Worship Songs
परमेश्वर मानता है इंसान को अपना सबसे प्रिय
परमेश्वर ने इंसान को बनाया।
चाहे इंसान हो गया दूषित या चले उसके पीछे,
परमेश्वर के लिए इंसान है दुलारा,
या इंसान के शब्दों में परमेश्वर का सबसे प्यारा प्रियजन।
इंसान नहीं उसका खिलौना।
वो है रचयिता और इंसान है उसकी रचना।
लगता है पद है अलग,
पर इंसान के लिए जो करता है परमेश्वर वो है उनके रिश्ते से बहुत बढ़कर।
इंसान से है प्रेम परमेश्वर को और है उसका ख़्याल,
दिखाता है वो इंसान को अपनी फ़िक्र।
बिन थके वो देता है इंसान को,
कभी नहीं लगता उसे ये है अतिरिक्त कार्य,
कभी नहीं लगता उसे चाहिए है मिलना श्रेय।
कभी नहीं लगता उसे कि इंसान को बचाना,
उसकी पूर्ति करना और उसे सब कुछ देना
है कोई बहुत बड़ा योगदान।
वो बस अपने तरीके से,
अपने सार से, अपने स्वरूप से,
इंसान को चुपचाप, ख़ामोशी से करता है पूर्ति।
चाहे जितना इंसान पाए उससे,
परमेश्वर माँगता नहीं है श्रेय।
वो होता है उसके सार से तय।
यही है सही मायने में उसके स्वभाव की अभिव्यक्ति।
परमेश्वर ने इंसान को बनाया।
चाहे इंसान हो गया दूषित या चले उसके पीछे,
परमेश्वर के लिए इंसान है दुलारा।
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Parmeshwar Khoj Raha Hai Unhen (परमेश्वर खोज रहा है उन्हें) Hindi Worship Songs – Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parmeshwar Khoj Raha Hai Unhen

(परमेश्वर खोज रहा है उन्हें)

  • Artist: Hindi Worship Songs
परमेश्वर खोजता है उन्हें जो चाहते हैं उसे,
जो उसके प्रकट होने की करते हैं लालसा।
परमेश्वर खोजता है उन्हें जो नहीं विरोध करते,
सामने उसके बच्चों के जैसे आज्ञाकारी रहते।
परमेश्वर खोजता है उन्हें जो हैं सक्षम,
वचनों को उसके सुनने में हैं सक्षम,
जो सौंपता है वो स्वीकारते हैं उसे
और अपना हृदय और देह पेश करते हैं उसे।
अगर डिगा नहीं सकता कुछ,
डिगा नहीं सकता कुछ समर्पण तेरा परमेश्वर के लिए,
देखेगा वो तुझे ऊपर से, देखेगा तुझे ऊपर से कृपा दृष्टि के साथ, ओ…
परमेश्वर अपना आशीष प्रदान करेगा तुझे, प्रदान करेगा तुझे!
अगर है तू ऐसा, जो है तो महान, इज्जतदार और जानकार,
फिर भी, स्वीकारता है तू उसका आदेश और आह्वान।
अगर तू ऐसा है जो है तो अमीर, जिसका करते सभी समर्थन,
फिर भी, स्वीकारता है तू उसका आदेश और आह्वान, हां।
अगर डिगा नहीं सकता कुछ,
डिगा नहीं सकता कुछ समर्पण तेरा परमेश्वर के लिए,
जो भी तू है करता वह होगा महत्वपूर्ण और धार्मिक, ओ …
परमेश्वर अपना आशीष प्रदान करेगा तुझे, प्रदान करेगा तुझे!
मगर, अस्वीकार कर परमेश्वर की पुकार
अपने रुतबे के लिए और अपने लक्ष्यों के लिए,
जो भी करेगा तू (तू जो भी करेगा) परमेश्वर से होगा शापित,
हाँ, जो भी करेगा तू (तू जो भी करेगा) परमेश्वर से होगा तिरस्कृत।
अगर डिगा नहीं सकता कुछ,
डिगा नहीं सकता कुछ समर्पण तेरा परमेश्वर के लिए,
जो भी तू है करता वह होगा महत्वपूर्ण और धार्मिक, ओ …
परमेश्वर अपना आशीष प्रदान करेगा तुझे, प्रदान करेगा तुझे!
परमेश्वर अपना आशीष प्रदान करेगा तुझे,
अपना आशीष प्रदान करेगा तुझे, (तुझे), (तुझे) …
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Parmeshwar ki taadna Aur Nyaay (परमेश्वर की ताड़ना और न्याय) Hindi Worship Songs -Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parmeshwar ki taadna Aur Nyaay

(परमेश्वर की ताड़ना और न्याय)

  • Artist: Hindi Worship Songs
अपने जीवनकाल में स्वच्छ होने के लिए,
स्वभाव में बदल जाने के लिए,
एक अर्थपूर्ण जीवन जीने के लिए,
प्राणी के रूप में अपना कर्तव्य पूरा करने के लिए,
तुम्हें करना होगा स्वीकार परमेश्वर की ताड़ना और न्याय,
परमेश्वर के अनुशासन और प्रहार को होने न देना ख़ुद से जुदा,
यही करेगा तुम्हें मुक्त शैतान की चालबाज़ी से,
यही करेगा आज़ाद तुम्हें शैतान के प्रभाव से,
वो शक्ति जो करे हुए है तुम पर कब्ज़ा,
जी सकोगे फिर तुम, जी सकोगे फिर तुम,
जी सकोगे फिर तुम परमेश्वर की रोशनी में और भी ज़्यादा,
और भी ज़्यादा।
परमेश्वर की ताड़ना है रोशनी, उसका न्याय है मुक्ति की रोशनी।
है तुम्हारे लिए सबसे बड़ी कृपा,
जो रखती है तुम्हें सुरक्षा के घेरे में।
परमेश्वर की ताड़ना है रोशनी, उसका न्याय है मुक्ति की रोशनी।
है तुम्हारे लिए सबसे बड़ी कृपा,
जो रखती है तुम्हें सुरक्षा के घेरे में।
तुम्हें करना होगा स्वीकार परमेश्वर की ताड़ना और न्याय,
परमेश्वर के अनुशासन और प्रहार को होने न देना ख़ुद से जुदा,
यही करेगा तुम्हें मुक्त शैतान की चालबाज़ी से,
यही करेगा आज़ाद तुम्हें शैतान के प्रभाव से,
वो शक्ति जो करे हुए है तुम पर कब्ज़ा,
जी सकोगे फिर तुम, जी सकोगे फिर तुम,
जी सकोगे फिर तुम परमेश्वर की रोशनी में और भी ज़्यादा,
और भी ज़्यादा।
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Parmeshwar Ki Saari Srashti (परमेश्वर की सारी सृष्टि) Hindi Worship Songs -Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parmeshwar Ki Saari Srashti

(परमेश्वर की सारी सृष्टि)

  • Artist: Hindi Worship Songs
परमेश्वर की सारी सृष्टि उसकी प्रभुता के अधीन होनी चाहिए
परमेश्वर ने बनाया सब कुछ,
और इसलिए वह सृष्टि को लेता है,
अधीन अपने, और झुकाता आगे अपने प्रभुत्व के।
आदेश वो देता है सब को, हाथों में लेकर नियंत्रण।
जीव-जंतु, पहाड़, नदी, और मानव को अधीन उसके आना होगा।
चीज़ें जो आसमाँ और धरती पर हैं,
परमेश्वर के प्रभुत्व के अधीन सभी को आना है।
करना होगा समर्पण, विकल्प के बिना।
है आज्ञा यही परमेश्वर की और उसका है अधिकार।
परमेश्वर ने बनाया सब कुछ,
और इसलिए वह सृष्टि को लेता है,
अधीन अपने, और झुकाता आगे अपने प्रभुत्व के।
परमेश्वर की आज्ञा से है सब कुछ।
वो दे क्रम और दे वो सबको स्थान,
प्रकार के अनुसार मिले वर्ग
और परमेश्वर की इच्छा से मिलता है पद।
चीज़ें जो आसमाँ और धरती पर हैं,
परमेश्वर के प्रभुत्व के अधीन सभी को आना है।
करना होगा समर्पण, विकल्प के बिना।
है आज्ञा यही परमेश्वर की और उसका है अधिकार।
चाहे जितना ही कुछ भी हो महान,
परमेश्वर की प्रभुत्व के पार जा सकेगा नहीं।
ईश्वर द्वारा रचे मानव की सब सेवा करते,
अवज्ञा करने या मांगने की न हिम्मत करे।
ईश्वर के द्वारा रचे मानव को पालन कर्तव्यों का है करना।
चाहे मानव प्रभु हो या हो शासक सब चीज़ों का,
चाहे जितना हो रुतबा ऊँचा,
परमेश्वर के अधीन मानव छोटा सा है।
एक तुच्छ सा प्राणी है, परमेश्वर की सृष्टि,
कभी परमेश्वर से ऊपर न होगा।
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Parameshvar Ke Prakatan Ki Mahatta (परमेश्वर के प्रकटन की महत्ता) Hindi Worship Songs – Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parameshvar Ke Prakatan Ki Mahatta

(परमेश्वर के प्रकटन की महत्ता)

  • Artist: Hindi Worship Songs
परमेश्वर के प्रकटन के मायने हैं,
अपने काम की ख़ातिर धरती पर उसका निजी आगमन।
वो अपनी पहचान, अपने स्वभाव, अपने तरीके से,
युग शुरु करने, युग का अंत करने, इंसानों के बीच आता है।
ऐसा प्रकटन न प्रतीक है, न तस्वीर है।
ये रस्म का रूप नहीं।
ये चमत्कार नहीं, ये भव्य दर्शन नहीं।
ये धार्मिक रीति तो बिल्कुल नहीं।
ये हकीकत है, सच्चाई है जिसे छुआ और देखा जा सकता है,
ये हकीकत है, सच्चाई है जिसे छुआ और देखा जा सकता है,
ऐसा सच जिसे छुआ और देखा जा सकता है।
ऐसा प्रकटन किसी व्यवस्था के पालन के लिए नहीं है,
न ही ये थोड़े वक्त का वचन है;
बल्कि ये परमेश्वर की प्रबंधन योजना में, काम के चरण के लिए है,
काम के चरण के लिए है।
परमेश्वर का प्रकटन सदा सार्थक होता है,
और सदा उसकी प्रबंधन योजना से जुड़ा होता है।
यह प्रकटन पूरी तरह से इंसान को परमेश्वर की अगुवाई,
मार्गदर्शन या प्रबुद्ध करने के प्रकटन की तरह नहीं है।
परमेश्वर जब भी ख़ुद को प्रकट करता है
वो महान कार्य के एक चरण को करता है।
ये काम किसी भी अन्य युग के काम से अलग है,
इंसान की कल्पना से परे है, इंसान के अनुभव से परे है।
ये काम नव-युग की शुरुआत करता है, और पुरातन युग को समाप्त करता है,
नया और उन्नत काम है ये, जो इंसान का उद्धार करता है,
ये काम इंसान को नए युग में लेकर जाता है।
यही परमेश्वर के प्रकटन की महत्ता है।
यही परमेश्वर के प्रकटन की महत्ता है।
यही परमेश्वर के प्रकटन की महत्ता है।
यही परमेश्वर के प्रकटन की महत्ता है।
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Parmeshvar Ke Do Dehdharano ke Mayane परमेश्वर के दो देहधारणों के मायने Hindi Worship Songs – Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parmeshvar Ke Do Dehdharano ke Mayane

(परमेश्वर के दो देहधारणों के मायने)

  • Artist: Hindi Worship Songs
परमेश्वर के दो देहधारणों के मायने
व्यवस्था युग के अंत के बाद, अनुग्रह के युग में,
अपना उद्धार कार्य आरम्भ किया परमेश्वर ने।
पहले देहधारण ने मानव को पाप से छुड़ाया
यीशु मसीह के देह द्वारा।
क्रूस से बचाया यीशु ने उसे पर, उसका शैतानी स्वभाव बना रहा।
अंत के दिनों में,
परमेश्वर मानवजाति को शुद्ध करने के लिए न्याय करता है।
यह होने के बाद ही
वो अंत करेगा अपना उद्धार कार्य और करेगा विश्राम, विश्राम।
रहता है मनुष्यों के बीच, उनके दुःख महसूस करता
और अपने वचनों का उपहार उन्हें देता है।
मनुष्य केवल परमेश्वर के देहधारी शरीर को ही स्पर्श कर सकता है।
उसके द्वारा उद्धार और सभी वचनों और सत्य की समझ, पा सकता है।
दूसरा देहधारण, मानव को शुद्ध करने के लिए काफी है,
इस तरह अपने देहधारण के मायने और सभी काम पूरे कर लेगा।
देह में परमेश्वर के काम का अब अंत होगा।
वह फिर से देहधारण नहीं करेगा, नहीं करेगा, नहीं करेगा।
इस देहधारण के बाद,
उद्धार और देह में उसके कार्य, खत्म हो जायेंगे।
क्योंकि वो मनुष्यों को छाँट,
अपने चुने हुओं को हासिल कर चुका होगा।
जिन्हें मिल गयी माफ़ी, दूसरा देहधारण उन्हें आज़ाद कर देगा।
स्वभाव बदलेंगे और साफ़ हो जाएंगे।
शैतान के प्रभाव से छूटकर, वे परमेश्वर की गद्दी को लौटेंगे।
शुद्ध होने का यही है तरीका,
हाँ, पूरी तरह शुद्ध होने का बस यही है तरीका,
बस यही है तरीका।
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Parmeshvar Ka Prem Aur Saar (परमेश्वर का प्रेम और सार) Hindi Worship Songs – Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parmeshvar Ka Prem Aur Saar

(परमेश्वर का प्रेम और सार)

  • Artist: Hindi Worship Songs
परमेश्वर का प्रेम और सार हमेशा से रहा है निस्वार्थ
परमेश्वर देता है अपना सर्वोत्तम पक्ष।
चीज़ें उत्तम, सर्वोत्तम चीज़ें देता है।
बिना बताये, दुखों को बिना दिखाए,
सहता है परमेश्वर प्रतीक्षा में ख़ामोशी से।
न असहाय न सुन्न, न यह चिन्ह कमज़ोरी का,
ईश्वर का सार और उसका प्रेम सदा ही निस्वार्थ है।
परमेश्वर देता है अपना सर्वोत्तम पक्ष।
चीज़ें उत्तम, सर्वोत्तम चीज़ें देता है।
मानवजाति के लिए वो सहता है, वो सहता है खामोशी से,
ख़ामोशी से वो दे सर्वोत्तम अपना।
बिना बताये, दुखों को बिना दिखाए,
सहता है परमेश्वर प्रतीक्षा में ख़ामोशी से।
यह एक अभिव्यक्ति है उसके सार की और स्वभाव की
वो सृष्टिकर्ता है, उसके इस पहचान की|
परमेश्वर देता है अपना सर्वोत्तम पक्ष।
चीज़ें उत्तम, सर्वोत्तम चीज़ें देता है।
मानवजाति के लिए वो सहता है, वो सहता है खामोशी से,
ख़ामोशी से वो दे सर्वोत्तम अपना।
वो देता है सर्वोत्तम अपना।
परमेश्वर देता है अपना सर्वोत्तम पक्ष।
चीज़ें उत्तम, सर्वोत्तम चीज़ें देता है।
मानवजाति के लिए वो सहता है, वो सहता है खामोशी से,
देता ख़ामोशी से वो,
ख़ामोशी से वो सहता और देता है,
सर्वोत्तम अपना, सर्वोत्तम अपना!
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Parmeshwar Antim Dino Mein Mukhyatah  (परमेश्वर अंतिम दिनों में मुख्यत) Hindi Worship Songs -Lyrics

Hindi Worship Songs –

Parmeshwar Antim Dino Mein Mukhyatah

(परमेश्वर अंतिम दिनों में मुख्यत)

  • Artist: Hindi Worship Songs
अंतिम दिनों में परमेश्वर देह बन जाता है।
अंतिम दिनों में परमेश्वर देह बन जाता है।
वो सब पूरा करता है, वो सब पूरा करता है अधिकतर अपने वचन से।
वो सबकुछ प्रत्यक्ष करता है अपने वचन से।
केवल उसके वचन में तुम देख सकते हो, वो जो है और ये कि वो परमेश्वर है।
अंतिम दिनों में परमेश्वर,
देहधारी परमेश्वर आता है धरती पर,
कहने अपना वचन केवल, ना किसी और काम से।
न देता है कोई संकेत, परमेश्वर, क्योंकि है उसका वचन काफ़ी।
क्योंकि है उसका वचन काफ़ी।
वचन से ही मानव को परमेश्वर के काम का ज्ञान होता है,
प्रभु के स्वभाव का और इंसान के सार का भान होता है,
और जान पाते हैं कि जाना है कहां इंसान को।
वचन से ही वचन के युग में,
वो सारे काम होते हैं जो चाहता है परमेश्वर करना,
प्रकाशित और निर्मल होता मानव और उसका इम्तहां होता।
मानव ने वचन देखा और सुना है,
और वचन के वजूद को जाना है,
तो वो प्रभु के होने में, सर्व-शक्ति में, ज्ञान में विश्वास करता है।
और वो प्रभु के हृदय में भी विश्वास करता है
जो मानव से प्रेम करता और उसे बचाना चाहता है।
जो मानव से प्रेम करता और उसे बचाना चाहता है।
जब परमेश्वर के वचन प्रत्यक्ष होते हैं,
प्रत्यक्ष होता है अधिकार और शक्ति,
बहुत पहले से अब तक प्रभु ने जो कहा है, वो तो अब होकर रहेगा,
और एक एक करके पूरा होगा।
इस तरह महिमा धरती पर प्रभु की ओर आयेगी, प्रभु की ओर आयेगी,
जहां परमेश्वर के वचनों का परम अधिकार होगा।
प्रभु-मुख के वचन से,
सभी दुर्जनों को ताड़ना मिलती है और सभी धर्मियों को आशीष मिलती है।
प्रभु-मुख के वचन से होता है सबकुछ प्रमाणित और पूरा।
बिना किये कोई कौतुक, परमेश्वर वचनों से ही करता है सब पूरा,
वचन से ही वो सबकुछ सच बना देता है।
राज्य के युग में, परमेश्वर अपने वचन से काम करता है।
वचन से ही वो अपने काम में परिणाम लाता है,
ना करामात कोई, ना कोई चमत्कार;
वो केवल वचन से ही काम करता है।
वो केवल वचन से ही काम करता है।
“वचन देह में प्रकट होता है” से

Mere Yeshu, Main Karta Hun Tumse Pyaar (मेरे येशु, मैं करता हूं तुमसे प्यार) Hindi Worship Songs- Lyrics

Hindi Worship Songs-

Mere Yeshu, Main Karta Hun Tumse Pyaar

(मेरे येशु, मैं करता हूं तुमसे प्यार)

  • Artist: Hindi Worship Songs
Mere yeshu, main karata hoon tumase pyaar (मेरे येशु, मैं करता हूं तुमसे प्यार)
तू है मेरा मैं जानता यह बात
और खुशी से चलूंगा नित तेरे साथ
मैं दुनिया की दोस्ती को जानता ना चीज़
तू शाफी है मेरा ऐ हर दिल अज़ीज़.
प्यार तूने किया सो करता मैं भी
गम ज़दा तू हुआ और जान अपनी दी
बचाने को मुझे गुनाह का मरीज़
तू शाफी है मेरा ऐ हर दिल अज़ीज़.
या जीता या मरता मैं करूगा प्यार
कि हूं तेरी मारफ़त नजात का हकदार
जिस हाल तू है शाफी तो मौत है नाचीज़
मैं मरता ललकारूंगा ऐ हर दिल अज़ीज़.
जब पहुंचूंगा तेरे आसमानी मकाम
तब देखूंगा कामिल प्यार का अन्जाम
वहां मौत मौकुफ है न है एक मरीज़
हमेशा तक गाऊंगा ऐ हर दिल अज़ीज़.